विराट कोहली ने अपने 31 वे बर्थडे पर खुद के लिए लिखा दिल छू लेना वाला लेटर

virat kohli letter

अक्सर आपके जन्मदिन पर दूसरे लोग आपको बधाई देते हैं, लेकिन क्या आपने कभी खुद के जन्मदिन पर अपने आप को बधाई दी है? शायद नहीं, लेकिन हमारे इंडियन क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने आज ऐसा किया है। आज विराट अपना 31वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस मौके पर उन्होंने अपने आप को बधाई देते हुए एक लेटर लिखा है जो कई मायनों में खास है। दरअसल, 31 साल के विराट कोहली ने ये लेटर 15 साल के विराट कोहली के लिए लिखा है।

विराट कोहली ने इस लेटर में लिखा “सबसे पहले जन्मदिन की बधाई! मुझे यकीन है कि तुम्हारे पास मेरे लिए अपने भविष्य को लेकर कई सवाल होंगे, लेकिन मुझे माफ करना मैं उनके जवाब अभी नहीं दे पाउंगा। क्योंकि आगे तुम्हारे लिए सरप्राइज़ है जिसमें तुम चैलेंज को रोमांच और हर निराशा को सीखने के अवसर की तरह लोगे। तुम यह अभी नहीं समझोगे मगर ये यात्रा लक्ष्य पाने से कही ज्यादा है और ये यात्रा काफी अच्छी है।”

“मैं आपको उस जीवन में जो कुछ बताता हूं वह आपके लिए बहुत बड़ी चीजें हैं विराट।लेकिन आपको अपने रास्ते में आने वाले प्रत्येक opportunity के लिए तैयार रहने की आवश्यकता है, जैसे ही वह अवसर मिले उसे पकड़ लो । और जो तुम्हारे पास है उसे कभी फॉर ग्रांटेड मत लेना ।तुम भी फ़ैल होंगे जैसे सब होते है, बस अपने आप से वादा करो कि कभी भी उठना नहीं भूलेंगे। और अगर पहली बार में सफल नहीं होते हो तो , फिर से प्रयास करो “।

“आपको बहुत लोग प्यार करते है और बहुत नापसंद भी लेकिन जो लोग आपको नहीं जानते उनके बारे में परवाह मत करो । अपने आप पर विश्वास करते रहो”।

“मुझे पता है कि आप उन जूतों के बारे में सोच रहे हैं जो पिताजी ने आज आपको गिफ्ट में नहीं दिए। वे जूते कुछ मायने नहीं रखते उस झप्पी के आगे जो उन्होंने आज सुबह तुम्हे दी, या उस जोक के आगे जो उन्होंने तुम्हारी हाइट को लेकर किया ।cherish this।

“मुझे पता है कि पिताजी कई बार सख्त लग लगते है लेकिन यह इसलिए क्योंकि वह आपके लिए सबसे अच्छा चाहता है। तुम्हे असा लगता है की कई बार हमारे पेरेंट्स हमे नहीं समझते है लेकिन ये हमेशा याद रखो की हमारा परिवार ही हमे सबसे ज्यादा बिना शर्त प्यार करता है। उन्हें प्यार दो, उनकी इज्जत करो और जो भी टाइम तुम्हारे पास है उनके साथ बिताओ ।पिताजी से कहो तुम उन्हें बहुत प्यार करते हो, उन्हें आज कहो, कल कहो और हमेशा कहते रहो”।

“फाइनली, हमेशा अपने दिल की सुनो, अपने सपनों का पीछा करो, दयालु रहो और दुनिया को दिखाओ की बड़े सपने देखने से कैसे सब बदलता है, तुम्हारी तरह “।

और उन पराठो का स्वाद लो दोस्त, वह आने वाले सालो में लक्जरी बन जायगे ।

हर दिन शानदार बनाएं!

विराट

Related posts