22 साल की उम्र में अंबानी के समधी अजय पिरामल ने पारिवारिक व्यवसाय में रखा कदम, आज है करोड़ों के मालिक

Ajay Piramal

एशिया के अमीर शख्स की लिस्ट में शामिल रियालंस ग्रुप के मालिक मुकेश अंबानी की बड़ी बेटी ईशा अंबानी की शादी पीरामल ग्रुप के फाउंडर अजय पिरामल के बेटे आनंद पीरामल से साल 2018 में हुई थी। मुकेश अंबानी के समधी अजय पीरामल 98 साल पहले 50 रुपए में शुरू हुए पीरामल एम्पायर के मालिक है ये एम्पायर आज के समय में 67 हजार करोड़ से ज्यादा तक पहुंच चुका है. तो आइये आज अजय पीरामल के जीवन के सफर के बारे में जानते है.

अजय पिरामल का जन्म

अजय पिरामल का जन्म 3 अगस्त 1955 को राजस्थान , भारत में गोपिकिसन पिरामल और ललिता पीरामल के घर हुआ था. इनके पिता का नाम गोपीकिसन पीरामल है जिनका साल 1979 में निधन हो गया वही इनकी माता का नाम ललिता पीरामल है.

अजय पिरामल की शिक्षा

Ajay Piramal
Ajay Piramal’s education

अजय पिरामल ने जय हिंद कॉलेज और बसंत सिंह इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, मुंबई विश्वविद्यालय से विज्ञान में स्नातक की डिग्री हासिल की है. इन्होने जमनालाल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, मुंबई विश्वविद्यालय से मैनेजमेंट अध्ययन में मास्टर डिग्री ली है. अजय पीरामल ने एमिटी यूनिवर्सिटी द्वारा मानद डॉक्टरेट और आईआईटी इंदौर से डॉक्टर ऑफ साइंस की मानद उपाधि प्राप्त की है.

अजय पिरामल का व्यावसायिक करियर

अजय पिरामल के दादा सेठ पीरामल चतुर्भुज मखारिया 50 रु लेकर राजस्थान के बागड़ से बिजनेस की शुरुआत की थी. 22 साल की उम्र में 1977 में अजय ने जमनालाल बजाज इंस्टीट्यूट से एमबीए करने के बाद पिता के टेक्सटाइल बिजनेस को पूरी तरह से ज्वाइन कर लिया था. 1979 में अजय के पिता के निधन के बाद फैमिली बिजनेस का बंटवारा कर दिया गया था. वही अजय पीरामल के हिस्से में टेक्सटाइल बिजनेस और मिरिंडा टूल्स कंपनी ही आयी थी. बंटवारे के 16 दिन बाद ही मुंबई की सभी टेक्सटाइल मिल्स को जबरदस्ती बंद करा दिया गया जिसके बाद उनके बिजनेस की हालत ख़राब हो गयी थी. लेकिन अजय ने हार नहीं मानी साल 1984 उन्होंने गुजरात ग्लास लिमिटेड कंपनी खरीदी और 29 की उम्र में इसके चेयरमैन बने. ये कंपनी फार्मा प्रोडक्ट के लिए ग्लास मैन्युफैक्चर करती थी।

Ajay Piramal
Professional career of Ajay Piramal

इसके बाद अजय ने टेक्सटाइल से निकलकर फॉर्मा बिजनेस में एंटर होने का फैसला लिया और साल 1988 में उन्होंने 6 करोड़ में ऑस्ट्रेलियन MNC निकोलस लेबोरेटरीज कंपनी खरीदी और फिर दो साल बाद गुजरात ग्लास को ग्रुप कंपनी निकोलस पीरामल इंडिया में मर्ज कर दिया गया था. साल 1993 में अजय ने अमेरिकी कंपनी एलेरगन के साथ बिजनेस ज्वाइंट वेंचर एग्रीमेंट किया। इसके बाद साल 1994 में अजय ने डेंटल केयर प्रोडक्ट्स के लिए फ्रांस की कंपनी सेटेलीक से एग्रीमेंट साइन किया। इसके बाद धीरे धीरे अजय ने अपने बिजनेस को बढ़ाया.

साल 2001 में पीरामल लाइफ साइंस लिमिटेड का फॉर्मेशन हुआ था. शुरुआत में अजय पीरामल के बेटे आनंद पीरामल लाइफ साइंस लिमिटेड में बतौर डायरेक्टर नियुक्त हुए थे. आज के समय में पीरामल समूह फार्मास्युटिकल, वित्तीय सेवाओं, रियल एस्टेट, हेल्थकेयर एनालिटिक्स और ग्लास पैकेजिंग में काम कर रहा है। पिरामल एंटरप्राइजेज के 3 प्रमुख व्यवसाय हैं – फार्मा, फाइनेंशियल सर्विसेज और हेल्थकेयर इनसाइट्स एंड एनालिटिक्स है.

अजय पिरामल का परिवार

अजय पिरामल ने साल 1976 में स्वाति पीरामल से शादी की थी. स्वाति पीरामल ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन हैं। स्वाति मुंबई यूनिवर्सिटी से मेडिकल की डिग्री ले रखी हैं। उन्होंने हॉवर्ड स्कूल से पब्लिक हेल्थ में मास्टर्स की डिग्री हासिल की है। स्वाति पीरामल पद्मश्री से सम्मानित हैं. अजय और स्वाति के दो बच्चे आनंद और नंदिनी है. नंदिनी ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से बी.ए. और स्टैनफोर्ड से एमबीए किया है। वही नंदिनी पीरामल ग्रुप का कारोबार और एचआर ऑपरेशन देखती हैं। आनंद पीरामल ने यूनिवर्सिटी ऑफ पेन सिल्विया से ग्रेजुएशन किया है। जिसके बाद उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई हॉवर्ड से की और वो पीरामल ग्रुप में आनंद एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर के पद पर हैं। आनंद के पास पीरामल रियल एस्टेट का कारोबार भी है वह इसके संस्थापक हैं।

अजय पिरामल की नेटवर्थ  

Ajay Piramal
Ajay Piramal’s net worth

अजय पिरामल फोर्ब्स की अरबपतियों की लिस्ट के मुताबिक 2.5 अरब डॉलर यानी की 18, 400 करोड़ रुपए की दौलत के साथ दुनिया के 404वें सबसे अमीर शख्स है। वही उनके समधी मुकेश अंबानी की जगह इस लिस्ट में टॉप 10 में आती है.