माँ ही दुनिया है

माँ ही दुनिया है

मेरी दोनों जहां की दौलत हैमाँ ही दुनिया है माँ ही जन्नत है मेरा ईमान है अक़ीदत हैमाँ का दीदार भी इबादत है माँ तेरे बिन वजूद क्या मेरामेरा होना तेरी बदौलत है मुश्किलों का नहीं मुझे कुछ ख़ौफ़मेरे सर पर दुआओं की छत है मुश्किलों में वो सर पे माँ का हाथसब दवाओं से बढ़ के राहत है सपना जैन

Read More

वो बनकर साथ है साया हमारा

sharo shayari

वो बनकर साथ हैं साया हमारातअल्लुक़ है बहुत गहरा हमारा ज़रूरत ही नहीं फिर ज़ेवरों कीअगर हो सादगी गहना हमारा किसे मिलती है आसानी से मंज़िलबहुत पुर-ख़ार था रस्ता हमारा हमारे दिल ने उनको भी दुआ दीजिन्हें भाया नहीं होना हमारा बना लेता अगर अपना हमें तूतेरे सजदे में सर रहता हमारा सदा जिनके इशारों पर चले हमवही सुनते नहीं कहना हमारा कई लोगों को यह भी चुभ रहा हैचमन कैसे बना सहरा हमारा पुकारा आज उसने जान कहकरमुकम्मल हो गया सपना हमारा -सपना जैन

Read More

सहरा में एक बहार सुहानी रही हूं मैं

ek ladki ki khawesh

उजड़ी हुई रुतों में भी धानी रही हूँ मैं,सहरा में इक बहार सुहानी रही हूँ मैं होंटों पे उनके आयी तो मुस्कान ले के मैं,आँखों में भी ख़ुशी का ही पानी रही हूँ मैं मैं वो नहीं जो रोल निभाए कनीज़ का,आयी तो फिर कहानी की रानी रही हूँ मैं आसां नहीं वजूद कुचल दे कोई मेरा,दुनिया को जानती हूँ सयानी रही हूँ मैं उसके दिनों में रंग भरे हैं बहार के,रातों में उसकी रात की रानी रही हूँ मैं साँसों में मेरी रोज़ महकता रहा है वो,उसकी रगों में…

Read More

एक लड़की…. | Ek ladki…

ladki shayari

फूल की हर कली महकती है.. जब वो दिल खोलकर के हंसती है .. उसको गम है किसी के जाने का.. उसकी आंखें ये मुझसे कहती हैं .. वो परिंदों के जैसे उड़ती है , यूं तो एक पिंजरे में बंद रहती है.. जब कभी मुझसे मिलने आए वो ,तो गले लग के पहरो यूं ही रोती है .. ये जो फूल और खुशबू-ए-बागबॉ है मेरा सब उसके कदमों की धूल से बहारा है। सपना जैन Every bud of a flower smells good… when she laughs heartily.. She is sad…

Read More

आसमां है और बाकी एक सितारा कितना प्यारा ….

romantic shayri

चल रही है सांस मद्धिम बढ़ रही है रात मद्धिम और बढ़ता जा रहा है गगन में वह एक सितारा राग जीवन का नहीं है भय मरण का भी नहीं है एक जैसा रह गया मैं और बस एक वह सितारा है यही एक आस बाकी साथ है विश्वास बाकीनेक दिल से जो किया है वह रहेगा साथ बाकीबहुत है गहरा अंधेरा पर चमकता वह सितारा चल रहे हैं किसी डगर पग है यही धरती यही नभ और मिलों बढ़ रहे जो फासले क्या हो कभी कम फिर भी दूरी…

Read More

गमजदा की आंख से आंसू चुरा सकते हैं हम

sad sayari

गमजदा की आंख से आंसू चुरा सकते हैं हम,हां किसी रोते हुए को भी हंसा सकते हैं हम ।तल्ख लहजा हो अगर तो जिंदगी का क्या मजा ,खुशमिजाजी से कहीं भी घर बना सकते हैं हम ।चांद तारे और सूरज ना मिले हमको भले,एक जुगनू से भी दिल रोशन बना सकते हैं हम ।फूल ही से प्यार करके ये तजरबा भी हुआ ,कांटो से भी दोस्ताना अब बना सकते हैं हम ।हम भी वाकिफ हैं किसी एक ऐसे प्यारे शख्स से,उसी के वास्ते एक नई दुनिया बना सकते हैं हम…

Read More